मंगलवार, 1 मई 2012

हिन्दी साहित्य पहेली 79 के हल हेतु संकेत



हिन्दी साहित्य पहेली 79 के हल हेतु संकेत

प्रिय पाठकगण
इस बार की हिन्दी साहित्य पहेली के जारी होने के बाद अब तक चौबीस घंटे हो चुके हैं परन्तु किसी भी पाठक का सही हल प्राप्त नहीं हो सका है इसलिये पहेली के सही हल हेतु आपको संकेत देना चाहता हूँ जो इस प्रकार है

(1) चित्र में छिपी कृति इस महान लेखक की आत्मकथा का एक भाग है

(2) इस प्रसिद्ध महान हिन्दी लेखक के हस्ताक्षर नीचे दिये गये हैं


मेरा विश्वास है कि अब तक यह दोनो संकेत आपको पहेली के हल तक पहुंचने में सहायक हो चुका होगा सो देर किस बात की तुरंत अपना उत्तर भेजें ताकि कोई और आपसे पहले उत्तर देकर इस पहेली का विजेता न बन बैठै।
अग्रिम शुभकामनाओं सहित


4 टिप्‍पणियां:

  1. आश्चर्य है मैंने तो सोमवार को ही रात में इसका उत्तर भेजा था ! बल्कि मुझे पूरा विश्वास था कि अब तक सही हल के साथ कई उत्तर आपके पास पहुँच चुके होंगे ! खैर - ! फिर से लिख देती हूँ ! यह श्री हरिवंशराय बच्चन जी की आत्मकथा का तीसरा भाग है ' बसेरे से दूर ' ! यह पुस्तक मेरे घर में भी संग्रहित है इसलिए एक पल भी नहीं लगा मुझे उत्तर देने में !

    उत्तर देंहटाएं

आप सभी प्रतिभागियों की टिप्पणियां पहेली का परिणाम घोषित होने पर एक साथ प्रदर्शित की जायेगीं