सोमवार, 23 जुलाई 2012

हिन्दी साहित्य पहेली 91 महाकवि कालिदास द्वारा रचित ग्रन्थ का नाम पहचानना है?

प्रिय पाठकजन एवं चिट्ठाकारों 




आप सभी सुधी पाठकजन जानते है कि हिन्दी साहित्य के इतिहास की रचना में श्री शिव सिंह सेंगर का योगदान अद्वितीय है उन्होंने १८८३ ई. मेँ "शिव सिँह सरोज" की रचना की। इस ग्रन्थ में लगभग १००० कवियोँ कवियोँ का जीवन-चरित्र एवँ उनकी कृतियोँ के नमूने प्रस्तुत किये गये हैँ। परन्तु श्री शिव सिंह सेगर से डेढ सौ वर्ष पूर्व महाकवि कालिदास ने भी एक ऐसा ही प्रयास किया था जिसमें उन्नीसवीं शदी के कवियों लेखकों का परिचय और कृतित्व को वर्णित किया गया था ।

आज की हिन्दी साहित्य पहेली में आपको महाकवि कालिदास के द्वारा रचित उस ग्रन्थ का नाम बताना है जिसमें उन्नीसवीं शदी के कवियों लेखकों का परिचय और कृतित्व को वर्णित किया गया था ।


संकेत-1संकेत के रूप में आपको बताना चाहेंगे कि महाकवि कालिदास ने इसकी रचना 1718 ई में की थी।

संकेत-2दूसरे संकेत के रूप में इस रचना के कुछ संभावित नाम भी प्रस्तुत हैं


1.रत्कविगिराविलास

2.हजारा

3.विद्वन्मोदतरँगिणी

4.रागसागरोद्भव

5.रागकल्पद्रुम

6.श्रंगार संग्रह

7.सुन्दरी तिलक


क्या आप पहचान गये हैं उस रचना को ? तो फिर देर किस बात की जल्दी से जल्दी अपना उत्तर भेजें ताकि आपसे पहले उत्तर भेजकर कोई और इसका पहेली का विजेता न बन जाय। 



हार्दिक शुभकामनाओं सहित।



3 टिप्‍पणियां:

  1. मेरे अनुमान से कालीदास रचित इस ग्रन्थ का नाम 'हजारा' होना चाहिए !

    उत्तर देंहटाएं
  2. महाकवि कालिदास के द्वारा रचित उस ग्रन्थ का नाम (हजारा ) है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. महाकवि कालिदास द्वारा संग्रहित उस ग्रन्थ का नाम है-'कालिदास हजारा'

    उत्तर देंहटाएं

आप सभी प्रतिभागियों की टिप्पणियां पहेली का परिणाम घोषित होने पर एक साथ प्रदर्शित की जायेगीं