मंगलवार, 17 जनवरी 2012

हिंदी साहित्य पहेली 64 का परिणाम और विजेता हैं डा0 रूपचंद जी शास्त्री मयंक जी

इस साहित्य पहेली 64 के विजेता की घोषणा से पूर्व सही उत्तर जो है
पत्रिका "चाँद" जो 1920 से 1928 तक प्रकशित हुयी ओर इसके संपादक थे श्री रामरिख सहगल जी और इसकी संचालिका थीं उनकी पत्नी श्रीमती विद्यावती सहगल जी

और अब बात परिणामों की जो पिछली बार के परिणामों के ठीक उलट है यानी पिछली पहेली के उपविजेता इस बार विजेता हैं जबकि पिछली विजेता इस बार उपविजेता बनी है
पहचान गये ना इस बार के विजेता को -----------सबसे पहले सही उत्तर देकर विजेता बने हैं आदरणीय डा0 रूपचंद जी शास्त्री मयंक जी

और दूसरे नंबर पर सही उत्तर देकर प्रथम उपविजेता बनी है सुश्री ऋता शेखर मधु जी

आप सभी विजेता तथा उपविजेता गणों को हार्दिक बधाई

अगली पहेली तक के लिये आप सबको नमस्कार और हार्दिक शुभकामनाऐं।

5 टिप्‍पणियां:

  1. इस बार उत्तर जानने के लिए परिश्रम करना पड़ा|
    आदरणीय शास्त्री जी को बहुत-बहुत बधाई|

    उत्तर देंहटाएं
  2. वृद्धावस्था में परीक्षा देना अच्छा नहीं लगता है। क्योंकि याददाशत कम हो जाती है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. जिसे आपने परीक्षा समझ कर दिया हैं वह हमारे लिये आर्श्विाद है आदरणीय शास्त्री जी ।

    कृपया इसी प्रकार अशिर्वाद बनाये रखियेगा बस ।
    सुश्री ऋता शेखर मधु जी को इस बार उत्तर जानने के लिए परिश्रम करना पड़ा

    आप दोनो को हार्दिक बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  4. जिसे आपने परीक्षा समझ कर दिया हैं वह हमारे लिये आर्श्विाद है आदरणीय शास्त्री जी ।

    कृपया इसी प्रकार अशिर्वाद बनाये रखियेगा बस ।
    सुश्री ऋता शेखर मधु जी को इस बार उत्तर जानने के लिए परिश्रम करना पड़ा

    आप दोनो को हार्दिक बधाई

    उत्तर देंहटाएं

आप सभी प्रतिभागियों की टिप्पणियां पहेली का परिणाम घोषित होने पर एक साथ प्रदर्शित की जायेगीं