सोमवार, 17 अक्तूबर 2011

हिन्दी साहित्य पहेली 51 सामने बना हुआ चित्र एक कृति का मुखपृष्ठ है।

प्रिय पाठकजन एवं चिट्ठाकारों

,आज की पहेली हिन्दी साहित्य की एक महान हस्ती श्रीयुत तुलसीदास पर आधारित है
। सामने बना हुआ चित्र उस महान साहित्यकार के द्वारा लिखित एक कृति का मुखपृष्ठ है।



,आज की पहेली हिन्दी साहित्य की एक महान हस्ती श्रीयुत तुलसीदास पर आधारित है
है। इस चित्र में से प्रकाशक लेखक का नाम का नाम तो यथावत है परन्तु कृति के शीर्षक में थोडी सी छेडछाड की गयी है । अब देखना यह है कि आप इस छेडछाड को पहचान कर कृति का सही नाम बता पाते हैं या नहीं। आज की पहेली में आपको इस कृति के सही नाम को पहचानना है

अब तक तो आप पहचान ही गये होंगें इस लेखक को और उसकी रचना को ! फिर देर किस बात की जल्दी से अपना उत्तर भेजिये कहीं कोई और आपसे पहले उत्तर भेजकर विजेता न बन जाय।

3 टिप्‍पणियां:

  1. यह गोस्वामी तुलसीदास रचित ग्रन्थ है जिसका शुद्ध नाम है ----
    " बरवै रामायण "

    उत्तर देंहटाएं
  2. यह महाकवि तुलसीदास द्वारा रचित ग्रन्थ " बरवै रामायण " का मुख पृष्ठ है ! पुस्तक का सही नाम है --
    " बरवै रामायण " !

    उत्तर देंहटाएं

आप सभी प्रतिभागियों की टिप्पणियां पहेली का परिणाम घोषित होने पर एक साथ प्रदर्शित की जायेगीं