बुधवार, 31 अगस्त 2011

अरे ! इस बार की हिन्दी साहित्य पहेली की उपविजेता सुश्री साधना वैद जी के सुझाव

अरे ! इस बार की हिन्दी साहित्य पहेली की उपविजेता सुश्री साधना वैद जी के सुझाव की गंभीरता को समझते हुये यह निश्चित किया है कि अब मेरे द्वारा पूछी जाने वाली पहेली प्रत्येक सोमवार को दिन में 1 बजकर तीस मिनट पर पूछी जायेगी और परिणाम के लिये तो सही उत्तर प्राप्त होने की बाघ्यता है ना सो कम से कम एक दिन तो दिया ही जायेगा या फिर सही उत्तर प्राप्त होने तक, अधिकमत तीन दिन, और शालिनी बहन की पहेली पूछने का समय तो पूर्व से ही निश्चित है शनिवार दोपहर से लेकर रात्रि 10 बजे के बीच । कोशिश करेंगे कि शनिवार को भी दिन में एक बजकर तीस मिनट के लगभग ही पूछी जाय । यह ठीक रहेगा ना, साधना जी ! अन्य सुधी पाठकजन कृपया अपनी राय भी दें ताकि हम इस पहेली को और अधिक आकर्षक बनाकर आपकी अधिकतम सहभागिता ले सकें।

3 टिप्‍पणियां:

  1. ashok ji aapne jo sujhav man liye hain ve sahi hain ham bhi koshish karenge ki ham apni shanivar kee paheli ko sahi samay matlab 1.30 p.m.par prakashit kar diya karen.sadhna ji ke sujhav hamare liye manya hain.

    उत्तर देंहटाएं
  2. अशोक जी एवं शालिनी जी आपने मेरे सुझाव को इतनी अहमियत दी इसके लिये आभारी हूँ ! आशा है इसके बाद प्रतिभागियों की संख्या में अवश्य वृद्धि होगी ! धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं

आप सभी प्रतिभागियों की टिप्पणियां पहेली का परिणाम घोषित होने पर एक साथ प्रदर्शित की जायेगीं