गुरुवार, 17 मार्च 2011

पहेली संख्या २३ का परिणाम और विजेता.

प्रिय चिट्ठाकारों,
      पहेली संख्या-२३ का सही उत्तर है-
                     "प्रिय प्रवास "
और सही उत्तर सर्वप्रथम भेजकर विजेता बने हैं-
                                  श्री यशवंत mathur ji  
और पहेली का उत्तर पहली बार ही देने पर उपविजेता के पद पर सुशोभित हुई हैं-
                          डॉ.मीना अग्रवाल  ji 
                         आप दोनों को हिंदी साहित्य पहेली परिवार की और से बहुत बहुत शुभकामनायें.
                                   

साथ ही समस्त ब्लॉग परिवार को होली की बहुत बहुत शुभकामनायें.                                                 

3 टिप्‍पणियां:

  1. आदरणीया मीना जी सहित आप सभी को सपरिवार होली की बहुत बहुत बधाई .

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. प्रियप्रवास रस कलश
    जिन्होंने लिखा ठेठ हिन्दी का ठाठ।
    अर्जित किया अमर यश उज्जवल
    हरिऔध थे कवि सम्राट!
    --
    उत्तर मुझे पता था।
    मगर हर बार मेरा ही नाम विजेता की लिस्ट में आये ये अच्छा नहीं लगता!
    --
    विजेताओं को बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  3. उनको रंग लगाएँ, जो भी खुश होकर लगवाएँ,
    बूढ़ों और असहायों को हम, बिल्कुल नहीं सताएँ,
    करें मर्यादित हँसी-ठिठोली।
    आओ हम खेलें हिल-मिल होली।।
    --
    होलिकोत्सव की सुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं

आप सभी प्रतिभागियों की टिप्पणियां पहेली का परिणाम घोषित होने पर एक साथ प्रदर्शित की जायेगीं